काबू में रखें

काबू में रखें…

– प्रार्थना के वक़्त अपने दिल को,
– खाना खाते समय पेट को,
– किसी के घर जाएं तो आँखों को,
– महफ़िल मे जाएं तो ज़बान को,
– पराया धन देखें तो लालच को,

भूल जाएं…

– अपनी नेकियों को,
– दूसरों की गलतियों को,
– अतीत के कड़वे संस्मरणों को,

छोड दें…

– दूसरों को नीचा दिखाना,
– दूसरों की सफलता से जलना,
– दूसरों के धन की चाह रखना,
– दूसरों की चुगली करना,
– दूसरों की ‪सफलता‬ पर दुखी होना,